Monday, April 19, 2010

सबसे बडा टिकट..

कहते है एक तस्वीर कई हज़ार शब्दो के बराबर होती है… :)

 

56

 

बहुत खुश हू और बहुत एक्साईटेड भी… दिमाग मे तरह तरह के विचार भी आ रहे है.. जैसे बैनर पर क्या लिखू.. क्या पहनकर जाऊ.. इत्यादि… इत्यादि… :)

 

वैसे काफ़ी तमन्नाये ऐसी भी है जिनका पूरा होना बहुत मुश्किल दिखता है जैसे:

- ओल्ड ट्रैफ़र्ड स्टेडियम मे बैठकर रोनाल्डो को मानचेस्टर यूनाईटेड के लिये खेलते हुये देखना.. (आजकल ये रीयाल मैड्रिड मे है..)

- किसी टेनिस स्टेडियम से फ़ेडरर और नडाल को किसी ग्रैंडस्लैम के लिये जूझते हुये देखना…(उन दोनो की फ़ार्म और अपनी जेब, दोनो को देखकर ऐसा होना बडा मुश्किल लगता है…)

 

 

 

(*If I am violating any kind of law by putting this image over here. Kindly let me know. I will surely do the needful.)

14 comments:

Stuti Pandey said...

Del Potro aur Federer ke finals ko youtube pe dekho....that kid give him a run for his attitude!! Full Swing! ;-)

Pankaj Upadhyay (पंकज उपाध्याय) said...

वो मैच लाईव देखा था यार.. US Open था... hilarious match..

PD said...

अरे भाई, ऐसे ही चले जाओ.. टीवी पर देखते हैं कि कार्टून टाइप लोगों को तो जरूर से दिखाते हैं.. :P

मेरी एक मित्र है राजस्थान कि.. IPL 1 कि घटना है.. राजस्थान और चेन्नई का मैच हो रहा था चेन्नई में और वो देखने गई थी.. मुश्किल से १०-१५ लोग रहे होंगे जो राजस्थान के पक्ष में थे और उनमे मेरी मित्र भी थी.. मैच राजस्थान जीत रहा था, मेरी मित्र और उसका ग्रुप खुश हो रहा था और पूरा स्टेडियम उन्हें घूर रहा था.. :D

Udan Tashtari said...

हम तो टिकिट देख कर ही प्रसन्न हुए जाते हैं.

Sanjeet Tripathi said...

भैया, कभी हम भी ऐसे ही पग्गल हुआ करते थे क्रिकेट के लिए, लेकिन जब से फिक्सिंग वाला लोचा आया 2000 में तब से ऐसा भूत उतरा है, लो भतीज्नों से पूछना पड़ा है कि ये जो बॉलिंग/बैटिंग कर रहा है, उस खिलाड़ी का नाम क्या है?……तो ये हाल है इधर, वैसे बधाई हो…

Pankaj Upadhyay (पंकज उपाध्याय) said...

जगजीत साहब को काफ़ी पहले सुना था.. और काफ़ी पहले उनके साथ बजाने वालो के बारे मे लिखा भी था -
http://wakeupbuddha.wordpress.com/2008/10/18/jagjit-singh-live/

प्रवीण पाण्डेय said...

यहाँ मैच देखने का पूरा मूड बना लिये थे,आप मैच अपहरण कर मुम्बई ले गये । उस पर भी आप पोस्ट पर छाप दिये । बहुत नाइन्साफी है ।

कुश said...

ब्लैक में बेचते हो क्या टिकट..बोलो?

mukti said...

हमें भी बड़ा क्रेज़ था क्रिकेट का...सारा match fixing के बाद हवा हो गया...वैसे तुम्हारा टिकसवा देखकर भक से जल गये हम.

Manoj K said...

great, so u r one of the few lucky ones who got the ticket.. congrats

Pankaj Upadhyay (पंकज उपाध्याय) said...

@Praveen Ji
शायद उसी वजह से टिकेट मिलना सम्भव हुआ वरना बहुत पहले ही बुकिग हो चुकी होती.. :)

@Kush
न भई, न ब्लैक - न व्हाईट.. कुछ भी नही..

@Aaradhna:
जलने की बू आयी तुम्हारे ब्लाग से..

@PD:
यही सोचकर चुपचाप जा रहे है.. मोबाईल तक अन्दर ले जाना अलाऊड नही है.. बडी मुश्किल है दोस्त..

@Manoj
Thanks!! It would have been a herculean task but last minute shift in venue, helped me.. and yes I am lucky :D .. Lets see...

आशीष/ ASHISH said...

Haalanki ab match ho bhi chuka aur shayad 'aapki' team jeet bhi gayee!
Phir bhi ticket kee badhaiyaan!
To kya ab agli post match kee live commentary hogi????!!!
DLF MAXIMUM!!!
Ha ha ha

abhi said...

kaash hum bhi dekh paate wo match aur aap bhi saath hote pankaj bhai :P

waise aapke blog pe to kaafi aata hun lekin kabhi comment nahi kar paya...yehi soch ke laut jaya karta tha blog se ki kya comment karun :)

aur tennis ka craze aapko bhi hai...great.... :)

cricket n tennis n f1 ye 3 game ka to jabardast shauk hai mujhe

अनूप शुक्ल said...

अब तो ई निपट गयाजी!