Thursday, September 26, 2013

२६ सितम्बर

दिन २६ सितम्बर ।।

ऑफिस से जब घर लौटता हूँ और फेसबुक ओपन करता हूँ, कुछ नोटिफ़िकेशन्स हैं... उनमें से एक में, एक तस्वीर है| 'तुम्हारे' साथ की तस्वीर... 'हम सब' के साथ होने की तस्वीर..


...मैं उसकी तरफ देखता हूँ, वो किचेन में मुस्करा रही है|
फिर मैं तुम्हे देखता हूँ... तुम वहीं हो... उसी तस्वीर में... मुस्करा रही हो...

थोड़ी देर बाद बालकनी में हम हैं... तुलसी हैं, मीठी नीम है, ठंडी हवा है, बारिश की फुहारें हैं, सामने नाचता मोर है, २६ सितम्बर है और प्यार है। ...ढेर सारा प्यार।

8 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

अहा, सुवासित भाव

shikha varshney said...

और थोड़ा लिखा होता न:(. कब शुरू करोगे लिखना फिर से ?

दिगम्बर नासवा said...

दिल को छूते हुए शब्द ... २६ सितम्बर ...
यादों का समुंदर ...

Puja Upadhyay said...

कितनी बार आई. पढ़ा. आँख भर भर आई.
खूब खूब सारी दुआएं तुम सबके लिए कीं.

Abhishek Ojha said...

...

Anonymous said...
This comment has been removed by a blog administrator.
Sachin Malhotra said...

bahut hi sundar bhav..
shukriya share karne k liye

Please visit my site and share your views... Thanks

SONU NANDESHWAR said...

Wow Nice and Great Alpha's



send free unlimited sms anywhere in India no registration and no log in
http://freesandesh.in